A

Monday, 30 September 2013

पत्थर की कीमत


एक हीरा व्यापारी था जो हीरे का बहुत बड़ा विशेषज्ञ माना जाता था, किन्तु गंभीर बीमारी के चलते अल्प आयु में ही उसकी मृत्यु हो गयी . अपने पीछे वह अपनी पत्नी और बेटा छोड़ गया . जब बेटा बड़ा हुआ तो उसकी माँ ने कहा -“बेटा , मरने से पहले तुम्हारे पिताजी ये  पत्थर छोड़ गए थे , तुम इसे लेकर बाज़ार जाओ और इसकी कीमत का पता लगा, ध्यान रहे कि तुम्हे केवल कीमत पता करनी है , इसे बेचना नहीं है.”
युवक पत्थर लेकर निकला, सबसे पहले उसे एक सब्जी बेचने वाली महिला मिली. ” अम्मा, तुम इस  पत्थर के बदले मुझे क्या दे सकती हो ?” , युवक ने पूछा.
” देना ही है तो दो गाजरों के बदले मुझे ये दे दो…तौलने के काम आएगा.”- सब्जी वाली बोली.
युवक आगे बढ़ गया. इस बार वो एक दुकानदार के पास गया और उससे पत्थर की कीमत जानना चाही .
दुकानदार बोला ,” इसके बदले मैं अधिक से अधिक 500 रूपये दे सकता हूँ..देना हो तो दो नहीं तो आगे बढ़ जाओ.”
युवक इस बार एक सुनार के पास गया , सुनार ने पत्थर के बदले 20 हज़ार देने की बात की, फिर वह हीरे की एक प्रतिष्ठित दुकान पर गया वहां उसे पत्थर के बदले 1 लाख रूपये का प्रस्ताव मिला. और अंत में युवक शहर के सबसे बड़े हीरा विशेषज्ञ के पास पहुंचा और बोला, ” श्रीमान , कृपया इस पत्थर की कीमत बताने का कष्ट करें .”
विशेषज्ञ ने ध्यान से पत्थर का निरीक्षण किया और आश्चर्य से युवक की तरफ देखते हुए बोला ,” यह तो एक अमूल्य हीरा है  , करोड़ों रूपये देकर भी ऐसा हीरा मिलना मुश्किल है.”
दोस्तों ,यदि हम गहराई से सोचें तो ऐसा मूल्यवान हमारा मानव जीवन है. 

पुस्तकों की आवाज

दोस्तों आज हम किताबो को भूल कर कंप्यूटर लैपटॉप पर ज्यादा ध्यान दे रहे है हमारी किताबे (पुस्तकें) हमसे कुछ कह रही है जो एककविता के माध्यम से पेश कर रहा हु. 

पुस्तकें चाहती है, करना बातें,
आज की, कल की, बीते जमानों की, एक एक पल की
पुस्तकें कुछ कहना चाहती हैं,
हमारे पास रहना चाहती हैं।
पुस्तकें जीवन महकाती हैं।
पुस्तकों में खेती लहलहाती है।
पुस्तकों में तकनीकी का राज है,
पुस्तकों में विज्ञान की आवाज है।

पुस्तकों में ज्ञान का भंडार है,
पुस्तकों में संस्कृति महान है।
पुस्तकों में राम का चरित्र महान है,
पुस्तकों में कृष्ण की लीलाओं का बखान है।
पुस्तकें हमें कुछ देना चाहती हैं,
पुस्तकें हमारे पास रहना चाहती हैं।

अपने कंप्यूटर में गुप्त ड्राइव बनाये और उसे पासवर्ड से सुरक्षित करें

अगर आप अपने कंप्यूटर में अपनी ख़ास फाइल और फोल्डर को दुसरे उपयोगकर्ताओ से सुरक्षित रखना चाहते हो तो उपयोग करे ये टूल.
 



ये आपके कंप्यूटर पर नया ड्राइव बनाने देगा जिसे आप पासवर्ड से सुरक्षित कर अपना डाटा अन्य लोगों से बचा सकते है ।

यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करें ।


Send Report Error हमेशा के लिए बंद करे



दोस्तों कई बार कंप्यूटर पर काम करते समय Send Report Error का मैसेज आने लगता है अगर आप चाहते है कि ये मैसेज आपके कंप्यूटर में कभी भी न आये तो इसके लिए आप my computer मे जाकर राईट क्‍लीक करे Properties पर क्लिक करे, advance tab पर क्लिक करे, error reporting button पर क्लिक करे, Disable error Reporting पर क्लिक करे और OK कर दे इसके बाद ये मैसेज आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर नहीं आयेगा

Sunday, 29 September 2013

अपने कम्‍प्‍यूटर की सारी जानकारी देखे बस एक क्लिक में

अगर आप जानना चाहते है कि आपके कम्‍प्‍यूटर में हार्डडिस्‍क, रैम, मदरबोर्ड या प्रोसेसर कौन की कम्‍पनी के है और उनका मॅाडल नम्‍बर आदि क्‍या है या उनकी क्षमता कितनी है,

इसके लिए आप अपने Start मेनू में run कमाण्‍ड को Open करके dxdiag टाइप कर ok पर क्लिक कर दें (अगर आपके स्टार्ट मेनू में run नहीं Show कर रहा है तो आप Windows बटन के साथ R बटन को दबा कर सीधे ही Run कमाण्‍ड को Open कर सकते है).


ऐसा करते ही आपके सामने एक विण्‍डो खुल जायेगी जिसमें आपके सिस्‍टम की सारी जानकारी आपको आपको मिल जायेगी.

अपने पीसी को इन तरीकों से बनाएं सुपरफास्ट

दोस्तों हमारा कंप्यूटर काम करते करते कई बार हैंग होने लगता है या उसकी स्पीड कम हो जाती है लेकिन अपने पीसी को इन तरीकों से बना सकते है सुपरफास्ट---------
Slow PC

Remove Temp Files
टेंपरेरी फाइल्स आमतौर पर ब्राउजर फाइल्स होती हैं या फिर नई एप्लीकेशन इंस्टॉलेशन के दौरान बनती हैं। इनमें से ज्यादातर फाइल्स प्रोग्राम इंस्टॉलेशन के बाद ऑटोमेटिकली रिमूव हो जाती हैं, बावजूद इसके इनमें से कुछ फाइल्स रह जाती हैं। जितनी ज्यादा फाइल्स होंगी, वे आपके पीसी की परफॉरमेंस को स्लो कर देंगी। ये फाइल्स धीरे-धीरे हार्ड ड्राइव का स्पेस खत्म करती जाती हैं। जिससे कई बार हार्ड डिस्क में भी प्रॉब्लम आ जाती है और जिसका असर पीसी की स्पीड पर पड़ता है। नेट पर कई सारे टेंप फाइल क्लीनर हैं, जिन्हें इंस्टॉल करने के बाद आप पीसी की स्पीड को बढ़ा सकते हैं। CCleaner को यूजर अपने पीसी में इंस्टॉल कर सकते हैं। यह एक ट्रस्टेड सॉफ्टवेयर है, जिसे विंडोज और मैक दोनों में यूज किया जा सकता है। इसमें बूट स्टार्टअप का भी ऑप्शन है, Setting करने के बाद PC को Start करते ही यह ऑटोमेटिकली Temp Files को फटाफट Remove कर देता है। इसके अलावा रजिस्ट्री क्लीनर भी है, जो प्रोग्राम Uninstall करने के बाद पीसी में रह जाती हैं, उन्हें भी क्लीन कर देता है। साथ ही इसमें System Restore का भी ऑप्शन है।
http://www.piriform.com/ccleaner
 
Remove Unwanted Shortcuts

शॉर्टकट्स हमारी सहूलियत के लिए होते हैं। इनके जरिए ही प्रोग्राम या फाइल्स को हम यूज करते हैं, ये हमारी प्रोडक्टिविटी बढ़ाने के साथ हमारा टाइम भी बचाते हैं। कई प्रोग्राम इंस्टॉलेशन के दौरान ऑटोमेटिकली डेस्कटॉप पर शॉर्टकट क्रिएट कर देते हैं, जिससे डेस्कटॉप का स्पेस खत्म हो जाता है। बेहतर होगा कि जो प्रोग्राम ज्यादा यूज में आते हों, उनके ही शॉर्टकट डेस्कटॉप पर रखें। कभी-कभार यूज होने वाले प्रोग्राम्स को स्टार्ट मेन्यू से जाकर एक्सेस कर सकते हैं। इससे आपका डेस्कटॉप खाली रहेगा और कंप्यूटर जल्दी बूट-अप होगा। विंडोज पीसी में अगर अनवॉन्टेड शार्टकट्स क्लीन करने हैं, तो डेस्कटॉप क्लीनअप विजार्ड की मदद से कर सकते हैं। यह 60 दिनों में आपके डेस्कटॉप को स्कैन करके अनयूज्ड आइकन और शॉर्टकट्स को डिलीट कर देगा। विंडोज एक्सपी यूजर्स डेस्कटॉप > राइट-क्लिक > क्लिक प्रॉपर्टीज > ओपन डिस्प्ले प्रॉपर्टीज > क्लिक डेस्कटॉप टैब > कस्टमाइज डेस्कटॉप > ओपन डेस्कटॉप आइकंस > रन डेस्कटॉप विजार्ड को एक्सेस कर सकते हैं।

Remove Duplicate
डुप्लीकेट फाइल्स भी कई बार पीसी की परफॉरमेंस को डिस्टर्ब करती हैं। ये फाइल्स आपकी हार्ड डिस्क का स्पेस घेरती हैं। यहां तक कि कई बार ज्यादा टेंप फाइल्स और डुप्लीकेट फाइल्स आपकी हार्ड ड्राइव को चोक कर सकती हैं। विंडोज और मैक यूजर्स इन डुप्लीकेट फाइल्स को सॉफ्टवेयर की हेल्प से रिमूव कर सकते हैं। ईजी डुप्लीकेट फाइंडर फ्री सॉफ्टवेयर की मदद से यूजर ऐसी फाइल्स को ठिकाने लगा सकते हैं। यह सॉफ्टवेयर एक्सटर्नल स्टोरेज जैसे फ्लैश ड्राइव, पेन ड्राइव और पोर्टेबल हार्ड ड्राइव समेत लोकल ड्राइव्स में सेव ऐसी फाइल्स को डिलीट कर देता है। इसके अलावा, यह स्कैनिंग के दौरान रिपोर्ट भी जेनरेट करता है। फोटोग्राफर्स के लिए भी डुप्लीकेट फोटोग्राफ को सर्च करना और उन्हें रिमूव करना आसान हो जाएगा। डुप्लीकेट फोटो क्लीनर फ्री प्रोग्राम की मदद से वे डुप्लीकेट फोटोग्राफ्स को सर्च कर उन्हें डिलीट करके अपनी हार्ड डिस्क की लाइफ बढ़ा सकते हैं।
http://www.easyduplicatefinder.com
 
Get Up-to-Date
पायरेसी एक बड़ी प्रॉब्लम है। कंप्यूटर की परफॉरमेंस स्लो होने के पीछे पायरेटेड सॉफ्टवेयर भी जिम्मेदार होते हैं। पायरेटेड सॉफ्टवेयर्स में अपडेशन का ऑप्शन नहीं होता। जबकि पीसी की परफॉरमें स बनाए रखने के लिए एप्लीकेशंस के लेटेस्ट अपडेट्स भी डाउनलोड करने चाहिए। कंपनियां ओएस के नए फ्रेमवर्क के मुताबिक सॉफ्टवेयर्स के बग्स और उनके कंपैटिबिलिटी इश्यूज को अपडेट करती रहती हैं। अगर उनके अपडेट इंस्टॉल नहीं होंगे, तो सॉफ्टवेयर्स खुलने में टाइम लेगें, जिससे पीसी बूट-अप होने में टाइम लेगा। इसके अलावा ओएस पीसी का ब्रेन होता है। अगर ओएस भी पायरेटेड होगा, तो नए सॉफ्टवेयर्स को सपोर्ट नहीं करेगा या कंपैटिबिलिटी इश्यूज की प्रॉब्लम होगी। पीसी की परफॉरमेंस को बनाए रखने के लिए जरूरी है कि जैनुइन सॉफ्टवेयर्स या ओपन सोर्स साॉफ्टवेयर्स यूज करें, ताकि पीसी की परफॉरमेंस बनी रहे।

Keep Free From Mal-ware
मलवेयर की वजह से पीसी की स्पीड कम होना बेहद कॉमन है। अगर वेब ब्राउजर नहीं खोल रखा है और फिर भी डेस्कटॉप पर पॉप-अप एड दिख रहे हैं, तो इसका मतलब आपके पीसी में एडवेयर इंस्टॉल है। यह प्रोग्राम अनवॉन्टेड एड को डिस्प्ले करता रहता है। ये अनवॉन्टेड एड आपके पीसी की परफॉरमेंस को स्लो करने का काम करते हैं। इसके अलावा, कई एडवेयर एड एनकोडेड होते हैं, जो आपके पीसी की इनफॉरमेशन को हैकर के पास पहुंचाते हैं इससे बचाने के लिए जरूरी है कि कोई थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करने से पहले देख लें कि कहीं यह स्पाई सॉफ्टवेयर तो नहीं है। अगर पीसी में एडवेयर की प्रॉब्लम है तो, चेक करें कि कहीं आप फ्री एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर तो इस्तेमाल नहीं कर रहे या फिर यह भी हो सकता है कि वह एक्सपायर हो गया है। अगर ऐसा है, तो नया एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर इंस्टाल करके पीसी की स्कैन कर लें। अगर इसके बाद भी एडवेयर पीसी में मौजूद रहता है, तो फ्री मलवेयरबाइट्स एंटी-मलवेयर यूटीलिटी टूल को इंस्टाल कर लें। यह सॉफ्टवेयर हर तरह के मलवेयर और एडवेयर को रिमूव कर देता है। कई एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर्स भी एंटी-मलवेयर प्रोटेक्शन के साथ आते हैं।
www.malwarebytes.org

PC को करें Defragment
समय-समय पर पीसी को डीफ्रैगमेंट करना जरूरी होता है। डीफ्रैगमेंटेशन प्रॉसेस आपकी हार्ड ड्राइव में सेव कंटेंट को ऑर्गेनाइज करता है, इससे ड्राइव स्टोर फाइल्स को कम समय में एक्सेस करने में मदद मिलती है। रोबस्ट डिफ्रैगलर टूल की मदद से हार्ड ड्राइव या किसी स्पेसिफिक फोल्डर को डीफ्रैग कर सकते हैं। इस टूल में मौजूद ड्राइव मैप की मदद से यह पता चल जाता है कि आपकी हार्ड ड्राइव में कितना स्पेस यूटिलाइज हुआ है। मैक पीसी को डीफ्रैग करने की जरूरत नहीं पड़ती है, क्योंकि उसका ओएस ऑटोमेटिकली 20 एमबी से कम साइज वाली फाइल्स को डीफ्रैग कर देता है। वहीं, अगर आप पेन ड्राइव या एक्सटर्नल हार्ड डिस्क यूज कर रहे हैं, तो आपको उन्हें डीफ्रैग करने की कोई जरूरत नहीं है।

बढ़ाएं रैम
कम रैम यानी रैपिड एक्शन मेमोरी होने से भी पीसी की परफॉरमेंस अफेक्ट होती है। खासतौर पर तब, जब आप एक ही समय में मल्टीपल एप्लीकेशंस रन कर रहे हों, वीडियो एडिटिंग कर रहे हों या पीसी पर गेम खेल रहे हैं। 32-बिट वर्जन की विंडोज को कम से कम 2 से 4 जीबी रैम की जरूरत होती है। वहीं, 64-बिट वर्जन की विंडोज में 4 जीबी से 8 जीबी तक की रैम होना जरूरी है। ज्यादा रैम का मतलब है हार्ड ड्राइव में सेव फाइल्स को ओपन होने में कम समय लगता है और इससे परफॉरमेंस अच्छी होती है। लेकिन इससे पहले यह चैक जरूर कर लें कि आपके चिपसेट में रैम अपग्रेडेशन का ऑप्शन है या नहीं। 


रजिस्ट्री किलर
करप्ट रजिस्ट्री भी आपके पीसी की परफॉरमेंस को अफेक्ट करती है। रजिस्ट्री रिपेयर सॉफ्टवेयर की मदद से आप करप्ट रजिस्ट्री फाइल्स की रिपेयर कर सकते हैं। ये सॉफ्टवेयर सिस्टम रजिस्ट्री को स्कैन करके कॉमन इश्यूज को सर्च करके उन्हें फिक्स कर देता है। इसमें रजिस्ट्री के बैकअप लेने का भी ऑप्शन होता है। अगर किसी वजह से सिस्टम में कोई प्रॉब्लम आती है, तो बैकअप रिस्टोरेशन उसे ओरिजनल स्टेट में रख सकते हैं। 

माइक्रोसॉफ्ट सिस्टम कन्फिगुरेशन टूल
बूट-अप प्रॉसेस के दौरान कई एप्लीकेशंस और सर्विसेज ऑटोमेटिक स्टार्ट हो जाती हैं, जिससे बूट-अप में वक्त लगता है।
विंडोज-आर को प्रेस करने के बाद रन में एमएसकनफिग टाइप करके इस टूल को एक्सेस कर सकते हैं। इसमें आपको बड़ी सावधानी के साथ एप्लीकेशंस को डिसेबल करना होगा। ध्यान रखें कि माइक्रोसॉफ्ट की सर्विसेज और प्रोग्राम्स को डिसेबल न करें। वहीं अगर आप श्योर नहीं हैं, तो उस प्रोग्राम को डिसेबल न करें। इसके अलावा गूगल, अपडेट, एडोब अपडेट या किसी थर्ड पार्टी प्रोग्राम को डिसेबल कर सकते हैं।

बड़ा बनने के लिए बड़ा सोचो


Think Big in Hindi Motivational Storyअत्यंत गरीब परिवार का एक  बेरोजगार युवक  नौकरी की तलाश में  किसी दूसरे शहर जाने के लिए  रेलगाड़ी से  सफ़र कर रहा था | घर में कभी-कभार ही सब्जी बनती थी, इसलिए उसने रास्ते में खाने के लिए सिर्फ रोटीयां ही रखी थी |आधा रास्ता गुजर जाने के बाद उसे भूख लगने लगी, और वह टिफिन में से रोटीयां निकाल कर खाने लगा | उसके खाने का तरीका कुछ अजीब था , वह रोटी का  एक टुकड़ा लेता और उसे टिफिन के अन्दर कुछ ऐसे डालता मानो रोटी के साथ कुछ और भी खा रहा हो, जबकि उसके पास तो सिर्फ रोटीयां थीं!! उसकी इस हरकत को आस पास के और दूसरे यात्री देख कर हैरान हो रहे थे | वह युवक हर बार रोटी का एक टुकड़ा लेता और झूठमूठ का टिफिन में डालता और खाता | सभी सोच रहे थे कि आखिर वह युवक ऐसा क्यों कर रहा था | आखिरकार  एक व्यक्ति से रहा नहीं गया और उसने उससे पूछ ही लिया की भैया तुम ऐसा क्यों कर रहे हो, तुम्हारे पास सब्जी तो है ही नहीं फिर रोटी के टुकड़े को हर बार खाली टिफिन में डालकर ऐसे खा रहे हो मानो उसमे सब्जी हो |
तब उस युवक  ने जवाब दिया, “भैया , इस खाली ढक्कन में सब्जी नहीं है लेकिन मै अपने मन में यह सोच कर खा रहा हू की इसमें बहुत सारा आचार है,  मै आचार के साथ रोटी खा रहा हू  |”
 फिर व्यक्ति ने पूछा , “खाली ढक्कन में आचार सोच कर सूखी रोटी को खा रहे हो तो क्या तुम्हे आचार का स्वाद आ रहा है ?”
“हाँ, बिलकुल आ रहा है , मै रोटी  के साथ अचार सोचकर खा रहा हूँ और मुझे बहुत अच्छा भी लग रहा है |”, युवक ने जवाब दिया|
 उसके इस बात को आसपास के यात्रियों ने भी सुना, और उन्ही में से एक व्यक्ति बोला , “जब सोचना ही था तो तुम आचार की जगह पर मटर-पनीर सोचते, शाही गोभी सोचते….तुम्हे इनका स्वाद मिल जाता | तुम्हारे कहने के मुताबिक तुमने आचार सोचा तो आचार का स्वाद आया तो और स्वादिष्ट चीजों के बारे में सोचते तो उनका स्वाद आता | सोचना ही था तो भला  छोटा क्यों सोचे तुम्हे तो बड़ा सोचना चाहिए था |”
मित्रो इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है की जैसा सोचोगे वैसा पाओगे | छोटी सोच होगी तो छोटा मिलेगा, बड़ी सोच होगी तो बड़ा मिलेगा | इसलिए जीवन में हमेशा बड़ा सोचो | बड़े सपने देखो , तो हमेश बड़ा ही पाओगे | छोटी सोच में भी उतनी ही उर्जा और समय खपत होगी जितनी बड़ी सोच में, इसलिए जब सोचना ही है तो हमेशा बड़ा ही सोचो|

Desktop Icon से नीली पट्टी कैसे हटायें


कभी कभी ऐसा होता है कि Desktop Icon एक नीली पट्टी के रूप में दिखाई देने लगते हैं । अगर आप इसे हटाना चाहते है तो आप My Computer आइकन पर राईट क्लिक करें और  Properties  पर क्लिक करें ।

अब नए खुले विंडो में Advanced टैब पर क्लिक करें ।

अब Performance खंड में Settings पर क्लिक करें ।

अब खुले विंडो में Visual Effects टैब में Custom पर क्लिक करें ।

यहाँ पर "Use drop shadows for icon labels on the desktop" Option के सामने बॉक्स पर क्लिक कर इस आप्शन को सक्रिय करके OK पर क्लिक करके  Save कर दें।


 

अपने चेहरे को कम्‍प्‍यूटर का पासवर्ड बनाइये

अगर आप चाहते हैं कि आपका Computer बिना password  डाले केवल आपके Face को देखते ही open हो जाये। इसके लिये आपको एक Softwere अपने Computer में इंस्‍टाल करना होगा और एक web camera लगाना है(अगर आप लैपटॉप पर प्रयोग करते है उसमे वेबकैमरा पहले से होता है) और Softwere में दिये गये निर्देशों का पालन करना है और Computer को रीस्‍टार्ट करना है। अब तो आपका कंप्यूटर बिना आपको देखे हुए खुलेगा ही नहीं जब आप सामने बैठेगे तभी आपका कंप्यूटर open होगा।

असल में यह Softwere face recognition system पर आधारित है, इसमें बेव कैमरे द्वारा आपका फोटो लिया जाता है, जिस में Softwere आपके चेहरे के कुछ खास हिस्‍सो को पांइट कर लेता है, और database तैयार कर लेता जब आप अपने कम्‍प्‍यूटर के सामने बैठते है तो Softwere उन्‍हीं पांइटों/database के आधार पर आपके चेहरे से मैच कराता है मैच हो जाने पर वह Computer को ओपन कर देता है और किसी दूसरे व्‍यक्ति या user के Computer के सामने बैठने पर Computer ओपन नहीं होता क्‍यूकि उसके पास उस नये user का database नहीं होता है 


यह Softwere बिलकुल Free है इसे आप इसकी निर्माता कम्‍पनी Lenovo की बेवसाइट से डाउनलोड कर सकते है जिसका लिंक मैंने नीचे दिया है।

मेरी गाय





एक दिन
एक अधिकारी
दफ्तर से जब घर आया
खूंटे पर गाय को न देख
बहुत घबराया
अरे यह तो हद हो गई,
मेरी गाय चोरी हो गई
झट मोबाइल निकाला
थाने का फोन मिलाया
गाय की हुलिया बताया
एफ आई आर दर्ज कराई
चोरी की रपट लिखाई
दुखी मन से घर के अंदर आया
बीवी को सहेलियों में हंसता पाया
उसे गुस्सा आ गया
चेहरा लाल हो गया
सहेलयां भांप गईं
पर्स उटा कर खिसक गईं
साहब पहले गरजे
फिर पैर पटक कर बरसे
तुम्हारी लापरवाही क्या कर गई
मेरी गाय चोरी हो गई
इस पर बीबी बोली
क्यों करते हो ठिठोली
तुम बैठो मैं अभी आती हूं
तुम्हारे लिए चाय लाती हूं
घबराने की कोई बात नहीं
चोरी की कोई वारदात नहीं
बाहर धूप आ गई थी
गाय परेशान हो रही थी
रामू ने उसे खोलकर
पीछे ले जाकर
बांध दिया
अब तो आपका गुस्सा कम हुआ
साहब को तसल्ली हुई
तबियत खिस्यानी बिल्ली हुई
इधर चाय मेज़ पर सजी
उधर फोन की घंटी बजी
साहब बोले कौन है भाई?
दूसरी तरफ से आवाज आई
हुजूर मैं हूं आपका खिदमतगार
यानी  हमीरपुर का थानेदार
हुजूर बढ़िया काम हो गया है
चोर तो पकड़ा गया है
अब थोड़ी कोशिश और की जाएगी
तो आपकी गुमशुदा गाय भी बरामद हो जाएगी। 

विंडोज एक्सपी को कहें अलविदा और इस्तेमाल करें कुछ नया

forget microsoft xp try os ubuntu

अप्रैल 2014 में माइक्रोसॉफ्ट एक्सपी के लिए सपोर्ट बंद करने से विंडोज एक्सपी इस्तेमाल करने वाले लाखों यूजर्स को इस ऑपरेटिंग सिस्टम से अलविदा कहना पड़ सकता है। ऑपरेटिंग सिस्टम ‘उबन्टु’ ऐसे में विंडोज एक्सपी की जगह ले सकता है।

क्या है ‘उबन्टु’
कुछ वर्षों में लाइनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम ‘उबन्टु’ काफी लोकप्रिय हुआ है। एक्सपी के जाने के बाद यूजर्स लिए ‘उबन्टु’ एक अच्छा विकल्प हो सकता है। अगर आप एंड्रॉयड आधारित टैबलेट या स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो लाइनक्स से परिचित होंगे। गूगल की तरफ से पेश किया गया एंड्रॉयड, जो स्मार्टफोन यूजर्स में लोकप्रिय मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है, लिनक्स पर ही आधारित है।

हालांकि यह मुफ्त होने के बावजूद लोकप्रियता में माइक्रोसॉफ्ट विंडोज और एप्पल मैक से पीछे है, लेकिन कामकाज में इस्तेमाल होने वाले ज्यादातर सॉफ्टवेयर (जैसे ऑडियो-वीडियो सॉफ्टवेयर, ऑफिस सॉफ्टवेयर, फोटो एडिटर, इंटरनेट ब्राउजिंग, पेजमेकिंग, आदि) भी मुफ्त उपलब्ध है।

क्षमताओं और फीचर्स के मामले में विंडोज या मैक से कम भी नहीं हैं। इसमें वे सभी फीचर्स हैं, जिनकी जरूरत आम कंप्यूटर यूजर को पड़ती है। दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए आपको जेब ढीली करनी पड़ती है। लेकिन उबन्टु समेत लाइनक्स के ज्यादातर संस्करण मुफ्त में मौजूद हैं।

यहां है काफी कुछ
सॉफ्टवेयर डेवलपर, वीडियो एडिटर, एनिमेशन आर्टिस्ट या फिर गेम प्लेयर; उबन्टु में सबकी जरूरत के फीचर्स मौजूद हैं। विंडोज में बनाई गई कई फाइलें भी इसमें खुल जाती हैं। विंडोज इंस्टॉल करते समय कई सॉफ्टवेयर और सुविधाएं खुद-ब-खुद इंस्टॉल हो जाती हैं, जैसे वर्डपैड, नोटपैड, इंटरनेट एक्सप्लोरर, माइक्रोसॉफ्ट पेंट आदि।

उबन्टु के साथ भी कई सॉफ्टवेयर इंस्टॉल होते हैं। वे ठीक उसी तरह काम करते हैं, जैसे विंडोज आधारित सॉफ्टवेयर। इनमें लिबर-ऑफिस (एमएस ऑफिस जैसा ऑफिस पैकेज), मोजिला फायरफोक्स (ब्राउजर), थंडरबर्ड (ईमेल क्लाइंट), जिम्प (इमेज एडिटिंग सॉफ्टवेयर) आदि खास हैं।

कहां से करें डाउनलोड
सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने के लिए इसमें एक एप-स्टोर भी है, जिसे ‘उबन्टु सॉफ्टवेयर सेंटर’ कहा जाता है। उबन्टु को कहीं से खरीदने की जरूरत नहीं है। बस www.ubuntu.com पर जाकर डाउनलोड कर लीजिए और एक डीवीडी डिस्क पर कॉपी कर लीजिए।

क्या है अलग
उबन्टु में स्टार्ट बटन, स्टार्ट मेनू या टास्कबार की जगह ‘लांचर’ नाम से मेनू मौजूद है, जिसमें प्रमुख सॉफ्टवेयरों के आइकन स्क्रीन के बाईं तरफ लंबी कतार में दिखाई देते हैं। उबन्टु में ‘डैश’ नामक पावरफुल सर्च यूटिलिटी का भी इस्तेमाल होता है, जो विंडोज8 के सर्च बॉक्स जैसा ही है।

विंडोज ‘कंट्रोल पैनल’ की ही तरह उबन्टु में भी ‘कंट्रोल सेंटर’ उपलब्ध है और ‘माई कंप्यूटर’ का काम ‘प्लेसेज’ करता है। 

Saturday, 28 September 2013

पढ़ाई चालीसा























पढ़ाई चालीसा
बेटा पढ़। आगे पढ़। बेटी तू भी पढ़। सुंदर भविष्य गढ़।।
समय है मूल्यवान। अच्छे कामों पर दे ध्यान।।
बना टाइम टेबिल। पढ़ लिखकर बन काबिल।।
प्रतिदिन स्कूल जा। घर से होमवर्क करके ला।।
जिस कक्षा में है उतने घंटे पढ़। हर विषय को ध्यान देकर पढ़।
गणित की एक प्रश्नावली प्रतिदिन कर। अँग्रेजी के दस नए शब्द प्रतिदिन याद कर।।
रट मत। ध्यान से समझ।।


लिखकर नोट्‍स बना। परीक्षा के दिन दोहरा।।
रात को जल्दी सो जा। पढ़ने को सुबह जल्दी उठ जा।।
मॉडल पेपर घर पर कर। रिहर्सल प्रेक्टिस अवश्य कर।।
जितना पूछा है उतना ही लिख। अच्छा स्पष्ट सुलेख लिख।।
शब्दों की सीमा याद रख। समय सीमा का ध्यान रख।।
अपनी गलती चेक कर। केलकुलेशन स्पेलिंग ठीक कर।।
ध्यान देकर प्रश्न पढ़। सही सही उत्तर लिख।।
आधा खाली की सोच भूल। आधा भरा सफलता का मूल।।

 
चरित्र निर्मल रख। स्वास्थ्‍य ठीक रख।।
बड़ों का कहना मान। बन एक अच्छा इंसान।।
अच्‍छे नंबरों से होगा पास। सकारात्मक सोच होगी अगर साथ।।
मन लगाकर कर पढ़ाई। सभी खिलाएँगे तुम्हे मिठाई।






इंटरनेट और ई-मेल

इंटरनेट और ई-मेल


नया जमाना नए-नए खेल‌
इंटरनेट और ई-मेल‌।

सिमटी दुनिया कम्प्यूटर में
सभी आंकड़े हाजिर घर में।

दुनिया में क्या है रेट
मोटर साइकिल कार समेत।

कम्प्यूटर का बटन दबाओ
पल में सभी सूचना पाओ।

मोबाइल सबके हाथों में
सभी व्यस्त दिखते बातों में।

सिमट रहे अब बूढ़े फोन
चोंगों को अब पकड़े कौन।

रेलों-बसों, कार यात्रा में
दिखें लोग मोबाइल थामें।

रास्ते से घर कर लो बात
घर से रास्ते के हालात।

खबर मिल रही है पल-पल की
बात नहीं अब कोई डर की।

हाल मुसाफिर का रास्ते में
पाओ खबर बहुत सस्ते में।

बैंकों से हो पैसे लाना
नहीं पड़ता अब लाइन लगाना।

यदि पास में ए.टी.एम.
खेलो एक बच्चों का गेम।

कार्ड होल में चटपट डालॊ
खेल-खेल में पैसे निकालो।

है कितना बेलेंस बचा
कम्प्यूटर स्लिप में साफ लिखा।

हॉकी हो या खेल क्रकेट का
घमासान बल्ला विकेट का।

सबकुछ टीवी में घर देखो
नए सीरियल फिल्में देखो।

देखो-दॆखो नया जमाना
लड़की का हंसना मुस्कुराना।

मिले जो हंसी लाफ्टर शो में
कहां कबड्डी या खो-खो में।

एनिमेशन की नई फिल्में
कार्टून ही रहते जिसमें।

खेलो कम्प्यूटर में खेल
कर लो दुनिया भर को मेल।


किसी भी फाइल को PDF में प्रिंट करे

दोस्तों अपनी किसी भी फाइल को PDF में प्रिंट करे सबसे पापुलर Cute PDF Writer से.

इस छोटे से (1.82 MB) टूल की मदद से,




इसे डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करे.

अगर आप चाहें तो रिकार्ड कर सकते है अपने माउस की हर गतिविधियों को |

 अपने कंप्यूटर-डेकस्टॉप पर होने वाले माउस की हर गतिविधि को आप रिकार्ड कर सकते है |

इसके लिए आप को एक छोटा सा 2MB का सॉफ्टवेर डाउनलोड करना होगा जो इस्तेमाल में बहुत ही आसान है




आप इसे यहाँ से डाउनलोड कर सकते है 

विंडोज स्टार्टअप के दौरान स्वयं का मैसेज दिखाएँ


विंडोज स्टार्टअप के दौरान विशेष मैसेज (Quatation) प्रदर्शित करना चाहते हों।
विंडोज स्टार्टअप के दौरान स्वयं का मैसेज दिखाने के लिए सबसे पहले स्टार्ट मेनू में जाकर 'Run' कमांड खोलें।


इसके बाद यहाँ 'regedit' टाइप करें और 'Enter' दबाएँ।

इसके बाद रजिस्ट्री एडिटर में इस पाथ पर जाएँ- 
HKEY_LOCAL_MACHINE\Software\Microsoft\Windows\CurrentVersion\policies\system








यहाँ आपको दो स्ट्रिंग वैल्यू मिलेंगी - legalnoticecaption तथा legalnoticetext . 


पहले 'legalnoticecaption' पर डबल क्लिक करें तथा यहाँ 'Value Data' के अन्दर 'Info' लिखें, 


इसके बाद 'legalnoticetext' पर डबल क्लिक करें तथा यहाँ 'Value Data' के अन्दर अपना पूरा मेसेज लिखें।

इसके बाद अपने कंप्यूटर को रिस्टार्ट करें और स्टार्टअप के दौरान अपना मैसेज देखें

Friday, 27 September 2013

टूल बार में अपना नाम कैसे लिखे

दोस्तों अपने टूल बार में नाम लिखना बहुत आसान है आप मेरे बताये कुछ स्टेप से अपने कंप्यूटर के टूल बार में नाम लिख सकते है 



सबसे पहले आप.……

1. Start 


 2. Control Panel

 

 

 

 

 

 

 

 

 

3. Regional and Language Options

 

4. Customize

5. Time

 

6. AM Symbol / PM Symbol

AM Symbol और PM Symbol को एडिट करें जैसे AM - के आगे DIXIT लिखे और इसके नीचे PM - के आगे भी DIXIT लिखे

एक और मजेदार बात है कि आप AM के जगह आप कोई और नाम और PM के जगह कोई और नाम लिखते हैं तो दिन में कोई और नाम और रात को कोई और नाम डिस्पले होगा

7.Apply  कर दें